Tuesday, 4 April 2017

{Latest*} Abhishek Shivling From Benefit And More Story

{Latest*} {TOP*10} What equipment is anointed ones from Benefit.

And More Shiv Story

Very Rare Collection Of Other Website 

शिवरात्रि - जानें फल से क्या उपकरण अभिषेक वाले


आप भगवान शिव का अभिषेक करना चाहिए। दिन के इंटीरियर में कुछ खास है। सोमवार 7 मार्च को  महाशिवरात्रि पर्व। भगवान शिव उनके पक्ष में हमेशा के लिए होना अभिषेक किया जाता है और इच्छाओं को पूरा कर रहे हैं। दूसरे पैराग्राफ के अनुसार कोई विशेष फल   धर्मसिन्धु एक विशेष प्रतीक में भगवान की पूजा करने की इच्छा है।










राशि अनुसार महाशिवरात्रि को करे शिव की आराधना, रूठी हुई किस्मत जाग जाएगी

आज आप को बता दे की संतों का मानना है की भोलेनाथ अपने भक्तों की सभी मनोकामनाएं शीघ्र पूर्ण करते है वैसे तो भक्तों की श्रद्धा अनुसार भोलेनाथ उन्हें फल देते है एक बात और शिवजी को अधिक प्रसन्न करने के लिए महाशिवरात्रि का त्यौहार आ रहा है,जो की इस वर्ष 24 फ़रवरी 2017 को है पर भगवान शिव की पूजा अर्चना बेहद आसान है और शांत मन के साथ की जा सकती है एक बात जिसके फलस्वरूप जीवन में सुख-शांति मिलती है साथ ही साथ आज जानिये महाशिवरात्रि के दिन अपनी राशि अनुसार कैसे करें शिव आराधना

मेष:- आप को बता दे की जिन लोगों की राशि मेष है और वो गुलाल से शिवजी की पूजा करें साथ में शिवरात्रि के दिन “ॐ ममलेश्वाराय नमः” मंत्र का जाप करें

वृषभ:-  इस राशि के लोग दूध से शिवजी का अभिषेक करें और ॐ नागेश्वराय नमः मंत्र का जाप करें

मिथुन:- आप को ये भी बता दे की मिथुन राशि वाले लोग गन्ने से शिवजी का अभिषेक करें और ॐ भुतेश्वराय नमः मंत्र का जाप करें

..कर्क:- इस राशि के लोग पंचामृत से शिवजी का अभिषेक करें ,महादेव के द्वादश नाम का स्मरण करें

सिंह:- और इस राशि के लोग शहद से शिवजी का अभिषेक करें और ॐ नमः शिवाय” मंत्र का जाप करें

कन्या:- इस राशि के लोग शुद्ध जल से शिवजी का अभिषेक करें और शिव चालीसा का पाठ करें

तुला:- इस राशि के लोग दही से शिवजी का अभिषेक करें और शांति से शिवाष्टक का पाठ करें

वृशिचक:- इस राशि के लोग दूध और घी से शिवजी का अभिषेक करें और ॐ अन्गारेश्वराय नमः मंत्र का जाप करें

धनु:- इस राशि के लोग दूध से शिवजी का अभिषेक करें और ॐ समेश्वरायनमः मंत्र का जाप करें

मकर:- इस राशि के जातक अनार से शिवजी का अभिषेक करें और शिव सहस्त्रनाम का उच्चारण करें

कुम्भ:- इस राशि के लोग दूध, दही, शक्कर, घी, शहद सभी से अलग अलग शिवजी का अभिषेक करें और ॐ शिवाय नमः मंत्र का जाप करें

मीन:- इस राशि के लोग ऋतुफल(जो मौसम का ख़ास फल हों) से शिवजी का अभिषेक करें और ॐ भामेश्वराय नमः मंत्र का जाप करें 🙏🏻🌺ॐ नमः शिवाय🙏🏻🌺



















- अभिषेक दलिया के बने शिवलिंग रोगों से छूट दी गई है।
- अभिषेक शिवलिंग मक्खन से बने करके खुशी की खोज में हैं।
- अभिषेक शिवलिंग रखकर गोल  थी  खाद्यान्न खरीद बना है '

Shivratri comes every month, but once in a year Mahashivaratri
Shivratri is the month. But it comes only once a year to Mahashivaratri.

Recognized with the world famous Heritage of the Deer hunter and festival of Maha Shivratri. I also saw deer and hunter-papmuktima in a family of supreme happiness, the welfare of Lord Shiva.
The original foundation of the abyss, but it was not getting down from the universe. Lord Vishnu went back into the abyss of the universe. But not in stock sex. When Lord Brahma did not, but overall it was up to the universe. However, they talked of this wrong gender foundation.

He said that Lord Shiva Agnathambha (to penalize Brahma), which was the fifth slice lie, the mouth of the cut Brahma was said by this face, sprung from it. When Lord Brahma, Lord Vishnu and Lord Shiva worship

His name is being considered for the best day of all days and nights. Thus worship of worship and Shiva Maha Shivaratri is a feast for Shiva devotees.

Jivas and Shiva are Maha Yoga through Maharatri. Lord Shiva is an unprecedented glory and annero. Satavik Sahv Pujya Lord Shiva is very pleased to be great. Integration of the creatures of the universe

Evil, in the vicious rebellious antidote Truth, self control, Satvic asterisks. Exterminator Demon Army Conch, drum, trident holder. Bhootnath, Bhairavadi Rudro Na Pati and Sage-Timer Lord are very respectful and fearful.

God does not approve of proud Ashman Shankar. Ravana was not completed due to thirty-five million gods, which were controlled by the three wishes due to the pride of Lord Shiva.

'Shanti Shantak Na Rechita Bhartruhari Nir Laya Lord Shiva did not test. Raja Bhatruhari Tyagi became a fakir. One saint was one of the things that sacrificed one. But the Siddis remained proud till Shiva remained away between pride.

On Monday, March 7, there is a special occasion on the eve of Mahashivaratri and it has become an unprecedented coincidence on Monday.

The feast days of Maha Rudra Shivalinga are all part of the earth. Siddhantana Mahadev Shiva destroys all evil planets. Mother Mahalaxmi Mahadev Siddhantana, also with Aishwarya Mahashivaratri days.

Poverty birth planes away from Shivratri, Shiva Pujan was doing Yoga. Dev Mahadev Kailash is reaching all the feast days. Therefore, on this day, the harmatic lesson of the hormic lesson gives us the fruits of the day.

Thus in the Maha Shivratri festival, there is Aneru and Adekaru Mahatmya for Lord Shiva devotees. Every lonely pylons that arise throughout every sound of the Mahadev sound ...

Jai Bholenath ... Jai Ho Lord ...
You are standing in the world ... "


Christmas Greetings Cards wallpaper  ➤ ➤  Click Here


Share:

0 comments:

Post a Comment

Copyright © 2016 {*Latest*} Diwali Wishes, Christmas Wishes,Bollywood And Hollywood Film Collection All Logos and Trademark Belongs To Their Respective Owners·